e KYC PM Kisan Registration Online | PM Kisan e KYC Kaise Kare, पीएम किसान ई केवाईसी

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि पीएम किसान योजना के अंतर्गत किसानों को अभी तक कुल 11किश्ते प्राप्त हो चुकी है, और अब सभी किसान भाई बड़ी बेसब्री से पीएम किसान योजना की 12वीं किश्त की प्रतीक्षा कर रहे है | दरअसल स्कीम के अंतर्गत पात्र किसानों के लिए ई केवाईसी अनिवार्य कर दिया है | जिसके कारण 11वीं किश्त का वितरण सुचारू रूप से नही किया जा रहा है| e KYC PM Kisan Registration Online कैसे करे और पीएम किसान ई केवाईसी (PM Kisan e KYC Kaise Kare) इसके बारें में पूरी जानकारी विस्तार से दी जा रही है |

ई केवाईसी (e KYC) से सम्बंधित जानकारी

देश के छोटे, सीमान्त और निर्धन कृषकों के जीवन स्तर में सुधार तथा उनकी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनानें के लिए सरकार द्वारा 01 दिसंबर 2018 को किसान सम्मान निधि योजना का शुभारम्भ किया था | इस स्कीम के अंतर्गत पात्र किसान भाइयों को प्रतिवर्ष 6 हजार रुपये (प्रत्येक 4 माह में 2000 रुपये की किश्त) की आर्थिक सहायता सरकार की तरफ से प्रदान की जाती है |

पीएम किसान ई केवाईसी क्यों आवश्यक है (PM Kisan e KYC is Necessary)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना या पीएम किसान स्कीम एक ऐसी योजना है, जिसके माध्यम से देशभर के पंजीकृत पात्र कृषकों को वर्षभर में अर्थात प्रत्येक चौथे माह 2 हजार रुपये की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाती है | वहीँ कुछ ऐसे लोग है, जो किसान बनकर अर्थात फर्जी किसान के रूप में आवेदन कर योजना का लाभ प्राप्त कर रहे है | ऐसे में सरकार नें स्कीम की धनराशि व्यर्थ और अपात्र लोगो तक न पहुचे, इसके लिए पीएम किसान ई केवाईसी प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया है|

pMKISAN पंजीकृत किसानों के लिए eKYC अनिवार्य है। कृपया ओटीपी प्रमाणीकरण के माध्यम से बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए निकटतम सीएससी केंद्रों से संपर्क करें। ओटीपी प्रमाणीकरण के माध्यम से आधार आधारित ईकेवाईसी को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है। सभी पीएमकेआईएसएएन लाभार्थियों के लिए ईकेवाईसी की समय सीमा 22 मई 2022 तक बढ़ा दी गई है।

पी०एम० किसान सम्मान (PMKSY) निधि योजना के तहत जिन किसान भाइयों को किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है, उन्हें 11वीं किश्त तभी प्राप्त होगी जब वह पी०एम० किसान के पोर्टल पर जाकर ई०के०वाई०सी० पूर्ण करा लें। ई०के०वाई०सी० कराने के लिये दो तरीके है:- 
पहला तरीका यह है कि pmkisan.gov.in पर जाकर ई०के०वाई०सी० का लिंक क्लिक करें लिंक क्लिक कर उसमें लाभार्थी का आधार नं० अंकित कर सबमिट करें इसके बाद एक नया पृष्ठ खुलेगा जिसमें आधार से लिंक मो. न० अंकित करना होगा। उसके बाद मोबाइल नम्बर पर प्राप्त ओ०टी०पी० के डालकर सबमिट करे ई०के०वाई०सी० पूर्ण हो जायेगा। इसमें ध्यान रहे की आधार से मो०न० का लिंक होना जरूरी है।

दूसरा तरीका यह है कि लाभार्थी किसी भी सी०एस०सी० केन्द्र पर आधार कार्ड ले जाकर बायोमेट्रिक ओथेन्टीकेशन कराकर ई०के०वाई०सी० पूर्ण करा सकता है इसके लिये सरकार द्वारा 15 रूपया शुल्क निर्धारित किया गया है। अतः सभी कृषक बन्धु जो पी०एम० किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे है अथवा नया पंजीकरण करा रहे है वह बताये गये किन्ही तरीके से दिनांक 31 मार्च 2022 से पूर्व ई०के०वाई०सी०] अवश्य करा लें जिससे उन्हें भविष्य में कोई किश्त प्राप्त करने में समस्या न हो। दिनांक 24.03.2022 से दिनांक 31.03.2022 तक समस्त विकास खण्डों के समस्त राजकीय कृषि बीज भरबार पर आयोजन किये जा रहे है।

कहनें का आशय यह है, कि बिना केवाईसी कराये हुए किसी को भी पीम किसान की 11वीं किश्त जारी नही की जाएगी | यदि आप पीएम किसान स्कीम के तहत 11वीं किश्त प्राप्त करना चाहते है, तो इसके लिए आपको केवाईसी अर्थात अपना आधार कार्ड वेरीफाई करवाना होगा|

पीएम किसान ई केवाईसी क्या है (PM Kisan e KYC)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Prime Minister Kisan Samman Nidhi Scheme) की ऑफिशियल वेबसाइट से प्राप्त जानकरी के अनुसार यदि आप इस स्कीम के माध्यम से प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए का लाभ प्राप्त कर रहे है, तो इस स्कीम के तहत सुचारू रूप से लाभ प्राप्त करनें के लिए ई केवाईसी 2022 करना अति आवश्यक है | नए नियमों के मुताबिक यदि आप ई केवाईसी पहले ही करवा चुके है, तो एक बार पुनः ई केवाईसी करवाए और यह देखे कि पुनः ई केवाईसी हो रहा है, तो आप इस बात का अनुमान लगा सकते है,कि स्कीम के अंतर्गत 10 वीं किश्त शीघ्र ही जारी कर दी जाएगी |    

PM Kisan eKYC की अंतिम तिथि

PM Kisan Samman Nidhi Scheme के तहत किसान भाइयों को केवाईसी (KYC) करवाना अनिवार्य किया गया है, सरकार द्वारा इसके लिए कोई अंतिम तिथि (Last Date) निर्धारित नहीं है, परन्तु यदि आप इस प्रक्रिया को पूरी नहीं करते है, तब आपको इस योजना का लाभ नहीं प्राप्त हो पायेगा| इसलिए किसान भाइयों से अनुरोध है कि, इस योजना का निरंतर लाभ लेने के लिए ईकेवाईसी (eKYC) की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करे|

पीएम किसान ऑनलाइन ई केवाईसी कैसे करे (PM Kisan Online E KYC in Hindi)

  • पीएम किसान ऑनलाइन ई केवाईसी करने के लिए सबसे पहले आपको किसान सम्मान निधि के अधिकारिक पोर्टल पर जाएँ ।
  • होम पेज पर ‘Formers Corner’ में आपको ई केवाईसी (e KYC) के विकल्प पर क्लिक करना है |
  • अब आपके सामने आधार ई केवीसी (Aadhar E KYC) का पृष्ट ओपन हो जायेगा | इस पेज पर आधार कॉलम में अपना आधार नंबर और इमेज टेक्स्ट में दिखने वाली इमेज लिखकर सर्च पर क्लिक करे |
  • अब आधार केवाईसी से सम्बंधित पेज न्यू ओपन होगा, इस पेज पर आपको अपना आधार न० से लिंक मोबाइल नंबर लिखकर गेट ओटीपी (Get OTP) के आप्शन पर क्लिक करे | 

अब आपके पंजीकृत मोबाइल पर छह अंकों का वन टाइम पासवर्ड अर्थात ओटीपी आएगा, इस ओटीपी को भरनें के बाद सबमिट फॉर ऑथॉरिज़ेशन (Submit For Authorization) पर क्लिक कर दें।

यदि आपने यह पूरा प्रोसेस अच्छी तरह से किया है, तो यह ई केवाईसी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, अन्यथा स्क्रीन पर इनवैलिड (Invalid) लिखा हुआ शो होगा |   

FAQ of पीएम किसान सम्मान निधि ई केवाईसी (PM Kisan E KYC Process)

PM Kisan eKYC  प्रक्रिया को करना जरूरी है क्या?

पीएम किसान KYC प्रक्रिया पूरी करना अत्यंत जरूरी है, क्योंकि यह न होने पर किसान भाइयों को योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा|

पीएम किसान ईकेवाईसी (eKYC) में क्या होता है?

PM Kisan eKYC में मुख्य Aadhar Verify किया जाता है।

PM Kisan eKYC की प्रक्रिया कहाँ से करे ?

यदि आपका मोबाइल नम्बर नहीं रजिस्टर्ड है तो किसान भाई अपने नजदीकी सीएससी (CSC) केंद्र में जाकर भी करवा सकते है|

क्या किसान भाई पीएम किसान ई केवाईसी, घर बैठे अपने mobile फ़ोन से कर सकते हैं?

जी हां, किसान भाई इस प्रक्रिया को अपने मोबाइल फोन के माध्यम से घर बैठे कर पाएंगे।

पीएम किसान ई केवाईसी में Invalid OTP का OPTION क्यों आ रहा है?

किसान भाई ई केवाईसी (eKYC) में जिस मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर रहे है, वह मोबाइल नंबर किसान के पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) में registered न होने की स्थिति में आधार वेरिफिकेशन करते समय nvalid OTP  का Option आ जाता है, इसलिए Beneficiary Status में चेक कर रहे मोबाइल नम्बर का ही इस्तेमाल करे|

Leave a Comment