Tag: farming ideas 2023

  • ऑर्गेनिक खेती क्या होती है | ऑर्गेनिक या जैविक खेती कैसे करे | Organic Farming in Hindi

    ऑर्गेनिक खेती क्या होती है | ऑर्गेनिक या जैविक खेती कैसे करे | Organic Farming in Hindi

    हम सभी जानते है कि भारत एक विशाल देश है और यहाँ की लगभग 60 से 70 प्रतिशत जनसँख्या अपनी आजीविका निर्वहन के लिए कृषि कार्यों पर निर्भर है | हालाँकि आज से कुछ दशक पहले की जानें वाली खेती और वर्तमान में खेती करनें की प्रक्रिया में एक बहुत बड़ा अंतर है | स्वतंत्रता से पूर्व भारत में […]

  • मिश्रित खेती क्या है | Mixed Farming in Hindi – मिश्रित खेती के प्रकार, लाभ व उद्धरण

    मिश्रित खेती क्या है | Mixed Farming in Hindi – मिश्रित खेती के प्रकार, लाभ व उद्धरण

    मिश्रित खेती (Mixed Farming) से सम्बंधित जानकारी यदि आप एक किसान है, तो आप अपने खेतो मे कई तरह की फसलो का उत्पादन करते होंगे, क्योंकि किसानो के लिये सबसे महत्वपूर्ण काम खेती करना होता है, जिसके लिये वो कड़ी मेहनत करते रहते है । इसके बाद ही वो अपने खेतो में अच्छा उत्पादन कर पाने में सफल होते […]

  • टमाटर की खेती : टमाटर की ये किस्म देगी एक एकड़ में 500 क्विंटल की पैदावार

    टमाटर की खेती : टमाटर की ये किस्म देगी एक एकड़ में 500 क्विंटल की पैदावार

    आलू, प्याज के बाद यदि कोई सब्जी का जिक्र किया जाता है तो वह है टमाटर। टमाटर का प्रयोग एकल व अन्य सब्जियों का जायका बढ़ाने में काफी मददगार होता है। इसके अलावा त्वचा की देखभाल में भी टमाटर भी का प्रयोग किया जाता है। टमाटर की फसल (Tomato cultivation) : नवंबर में तैयार करें […]

  • चुकंदर की खेती कैसे होती है | Beetroot Farming in Hindi | चुकंदर की उन्नत किस्में

    चुकंदर की खेती कैसे होती है | Beetroot Farming in Hindi | चुकंदर की उन्नत किस्में

    चुकंदर की खेती (Beetroot Farming)  से सम्बंधित जानकारी चुकंदर एक ऐसा फल है, जिसका सेवन सब्जी के रूप में पकाकर या बिना पकाये ऐसे भी किया जा सकता है | चुकंदर को मीठी सब्जी भी कह सकते है, क्योकि इसका स्वाद खाने में हल्का मीठा होता है | इसके फल जमीन के अंदर पाए जाते है, तथा चुकंदर के […]

  • Bhindi Ki Kheti: भिंडी की उन्नत खेती करने की सम्पूर्ण जानकारी, पढ़ें पूरा लेख

    Bhindi Ki Kheti: भिंडी की उन्नत खेती करने की सम्पूर्ण जानकारी, पढ़ें पूरा लेख

    कृषि वैज्ञानिकों की मदद से किसान कई तरह की नई तकनीकों से भिंडी की खेती कर रहे हैं. इसके साथ ही इसकी कई प्रकार की उन्नत किस्में भी विकसित हो चुकी हैं, जिनकी खेती करके किसान भिंडी की फसल से ज्यादा से ज्यादा उपज प्राप्त कर सकते हैं. हमारे देश में किसान कई तरह की […]

  • निराई गुड़ाई किसे कहते हैं | निराई गुड़ाई कैसे करते है | मशीन के बारे में जानकारी

    निराई गुड़ाई किसे कहते हैं | निराई गुड़ाई कैसे करते है | मशीन के बारे में जानकारी

    निराई गुड़ाई से संबंधित जानकारी भारत को एक कृषि प्रधान देश के रूप में जाना जाता है, और यहाँ की अधिकांश जनसँख्या खेती और इससे सम्बंधित उद्योगों पर आश्रित है| भारत में प्रतिवर्ष विभिन्न प्रकार की फसलों का उत्पादन किया जाता है| कभी-कभी वातावरण अनुकूल न होनें तथा अन्य कारणों से फसलों के उत्पादन में भारी कमीं हो जाती […]

  • गन्ना की खेती कैसे करें? यहां जानें | Sugarcane Farming In Hindi

    गन्ना की खेती कैसे करें? यहां जानें | Sugarcane Farming In Hindi

    sugarcane farming in hindi: मीठा किसे पसंद नहीं है। हमारे रोजमर्रा की आवश्यकता में उपयोग की जाने वाली  शक्कर, गुड़, राब, मिश्री आदि जैसी कई चीज़ें है जिसका निर्माण गन्ना (Sugarcane) से होती है। हालांकि मिठास की प्राप्ति के लिए और भी कई फसल है जैसे- ताड़ , चुकंदर और मधु(शहद) लेकिन मुख्य रूप से […]

  • तेजपत्ता की खेती कैसे करे | Bay Leaf Farming in Hindi

    तेजपत्ता की खेती कैसे करे | Bay Leaf Farming in Hindi

    तेजपत्ता की खेती (Bay Leaf Farming) से सम्बंधित जानकारी तेज पत्ता की खेती मसाला फसल के लिए की जाती है | इसका पत्ता शुष्क और सुगन्धित होता है, जिसे  अधिकतर खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए इस्तेमाल में लाते है | इसके अलावा इसे बीमारियों के उपचार के लिए औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता […]

  • गेंदा की खेती | Marigold Farming| Floriculture|

    गेंदा की खेती | Marigold Farming| Floriculture|

    भारत में पुष्प व्यवसाय में गेंदा का महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि इसका धार्मिक तथा सामाजिक अवसरों पर वृहत् रूप में व्यवहार होता है। गेंदा फूल को पूजा अर्चना के अलावा शादी-ब्याह, जन्म दिन, सरकारी एवं निजी संस्थानों में आयोजित विभिन्न समारोहों के अवसर पर पंडाल, मंडप-द्वार तथा गाड़ी, सेज आदि सजाने एवं अतिथियों के स्वागतार्थ […]