कीटनाशक दवाओं के नाम और प्रयोग | List of Banned (प्रतिबंधित) Pesticides in India

जिससे फसल की जरूरत के हिसाब से कीटनाशक का चयन कर ख़रीदा जा सके | ख़रीदे गए कीटनाशक का पौधो और मिट्टी पर कितना प्रभाव पड़ता है, और उसे कितना इस्तेमाल करना चाहिए | इन सभी जानकारियों कीटनाशक दवाओं के नाम और प्रयोग, List of Banned (प्रतिबंधित) Pesticides in India के बारे में बताया गया है |

कीटनाशक दवाओं (Pesticides) से सम्बंधित जानकारी

किसानो के लिए फसल बहुत अहमियत रखती है, वह अपनी फसल को सुरक्षित रखने के लिए कई तरह के उपायों को प्रयोग में लाता है | फसल को सुरक्षित रखने और उन्हें होने वाली हानियों से बचाने के लिए कई तरह की दवाइयाँ और कीटनाशक बाजार में उपस्थित है, जिन्हे किसान खरीदकर उपयोग में ला सकते है, किन्तु बहुत से किसानो को इन कीटनाशक और दवाइयों के नाम नहीं पता होते है | जिस वजह से किसानो को दवाइयों को खरीदने में भी दिक्कत होती है, इसलिए इन कीटनाशकों के नाम को जानना भी उतना ही जरूरी होता है |

अजवाइन की खेती कैसे होती है

कीटनाशक दवाओं के नाम (Names of Insecticides)

क्रम संख्यारासायनिक नामव्यापारिक नाम
1प्रोपेनफास + साइपरमेथ्रिन 44 ई.सी.पॉलीट्रिन सी. 44, राकेट 44
2मिथाइल डिमेटान 25 ई.सी.मेटासिस्टॉक्स 25 ई.सी., पैरासिस्टॉक्स 25 ई.सी.
3डाइमिथोएट 30 ई.सी.रोगर 30 ई.सी., नोवागेर 30 ई.सी.
4डाइक्लोरवास 76 ई.सी.नुवान 76 ई.सी., वेपोना 76 ई.सी.
5डायकोफाल 13.5 ई.सी.डायकोफास 13.5 ई.सी.
6मेलाथियान 50 ई.सी.मेलाटाफ 50 ई.सी., कोरोथियान 50 ई.सी.
7क्लोरपायरीफास 20 ई.सी.डर्सवान 20 ई.सी. राडार
8कार्बोफ्यूरान 3 जी.फ्यूराडान 3 जी., डायफ्यूरान 3 जी.
9फोरेट 10 जी.थिमेट 10 जी., पेरीटाक्स 10 जी
10कार्टाप हाइड्रोक्लोराइट 4 जी.50% एस.पी.पडान, केलडान
11इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल.कान्फीडोर
12कार्बारिल 50% घुलनषील चूर्णसेविन, धानुबिन
13मिथाइल पैराथियान 50 ई.सी.2% चूर्णमेटासिड, फालीडाल
14परोनिल 5 एस.सी. 0.3% जीरीजेन्ट
15कोरेजन 18.5 एस.सी.रायनेक्सीपायर
16क्लोरेन ट्रेनीलीप्रोल (0.4 ग्रेन्यूल)फरटेरा

Aquaponics Farming in Hindi 

कीटनाशक दवाओं का प्रयोग

कीटनाशक दवाओं का प्रयोग भी एक तरीके से किया जाता है, अगर यह प्रयोग सही तरीके से नहीं किया गया तो इसका कोई फायदा नहीं मिलता या फिर नुक्सान भी हो सकता है | कुछ कीटनाशक दवाओं का प्रयोग बुवाई के समय ही करते है, तो कुछ दवाओं का प्रयोग जब फसल थोड़ी बड़ी हो जाती है, तब करते है | जब भी आप कोई भी कीटनाशक दवाई लेने जाएँ, तो वह पर परामर्श लेकर ही उसका प्रयोग करे |

इसके अलावा कुछ दवाओं पर प्रयोग कर तरीका लिखा होता है, कि उसका प्रयोग अर्थात छिडकाव कैसे करते है | यदि आप किसान है और आपको समझ में नहीं आ रहा है कि फसल में कौन सा रोग है या कौन से कीड़ें लगे हुए है | इस विषय में जानकारी या सहायता के लिए “कृषि सहायता नम्बर (Krishi Helpline Number)” पर भी कॉल करके सम्पर्क कर सकते है | इसमें आपकी समस्याओं फसल में लगने वाले रोगों – कीटों की समस्याओं निवारण बताया जाता है |

तम्बाकू की खेती कैसे होती है

List of Banned (प्रतिबंधितPesticides in India

किसान अपनी फसल को सुरक्षित रखने के लिए कीटनाशक रासायनिक या जैविक प्रदार्थो का ऐसा मिश्रण तैयार करता है, जिससे कीड़े-मकोड़ो से होने फसल की हानि को कम करने तथा उनसे होने वाले दुष्प्रभावों से बचाने के लिए किया जाता है | इसका प्रयोग अधिकतर कृषि क्षेत्रों में पेड़ पौधो को कीटो से बचाने के लिए किया जाता है |

भारत के अतिरिक्त कई देशो ने इस कीटनाशक को कई सालो पहले ही बैन कर दिया है | किन्तु भारत में अभी भी इसका इस्तेमाल बिना पाबन्दी के हो रहा है | इससे फसल, किसानो, मिट्टी, मित्र जीवाणु और मनुष्यो पर घातक परिणाम देखने को मिलते है | इन कीटनाशकों का इतना बड़ा दुष्प्रभाव है कि इससे गर्भवती महिलाओ को जान का खतरा तक हो सकता है, तथा पैदा हुए बच्चो में अपंगता आ सकती है |

नीचे आपको ऐसी ही कुछ कीटनाशक दवाइयों और उनके रासायनिक नामों के बारे में बताया गया है, जो दवा नहीं, ज़हर है जिन्हे भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित भी कर दिया गया है,किन्तु यह कीटनाशक, रासायनिक दवाइयाँ धड़ल्ले से बिक रही है, जिसकी जानकारी हमारे भोले-भाले किसान भाइयो को भी नहीं है | यहाँ आपको ऐसी ही कुछ प्रतिबंधित कीटनाशक दवाइयों की सूची दी गयी है, जिनके रासायनिक और व्यापारिक नाम जानकर आप ऐसे ज़हर से अपनी प्रकृति और मानव जीवन की रक्षा कर सकते है |

Mushroom Farming Training By Government

प्रतिबंधित कीटनाशकों की सूची
क्रम संख्याकीटनाशक का नामफसल जिन्हें अनुमोदित सूची से हटाया जाना है
12‚4- डाईक्लोरोफिनोक्सी एसिटिक एसिडचाय
2एनिलोफाससोयाबीन
3विटरटेनालसेब, चाय
4कारब्राइलअरहर
5कारबोफ्यूरानकपास, शिमला मिर्च
6क्लोरोयेलोनिलसेब, अंगूर, मिर्च
7क्लोरोपाइरीफासमूँग, सरसों, गन्ना
8कॉपर आक्सीक्लोराइडजीरा, चाय, धान
9साइपरमेंथ्रीनगन्ना
10डेल्टामीथ्रीन (डेकामीथ्रीन)चना
11डाइक्लोरोवोस (डी.डी.वी.पी.)गन्ना
12डाइफिनकोजोलमूँगफली
13डाइफ्लूबिनजोरॉनमूँगफली
14डीमीथोटअरहर, कपास, मूँगफली
15डीनोकेपसेब, अंगूर, बिन्स, भिण्डी, आड़ू, बेर, मटर, पोपी (अफीम), मिर्च, जीरा, मेथी
16इण्डोसल्फानज्वार, मक्का
17फिन्नीमालमिर्च, मटर
18फ्लूसीलाजोलअंगूर, सेब
19मेलाथियानकपास, मूँगफली, सरसों
20मैंकोजेबचुकन्दर (आलू), अदरक
21मिथाइल पाराथीऑनसोयाबीन, मूँगफली
22मोनोक्रोटोफॉसचना, एरण्ड, सरसों
23ऑक्सीडेमेटोन,-मिथाइलनींबू, संतरा आदि (खट्टे नींबू)
24पर्मेथ्रिनभिण्डी, फूलगोभी, नींबू, संतरा आदि
25फेन्योएटहरा चना, उड़द, कपासइलायची
26फासालोनीधान, कपास, मूँगफली, इलायची, भिण्डी, मिर्च
27फासफेमीडानसरसों
28प्रोफीनोफॉसचाय
29प्रोपीकॉनाजोलकेला, कॉफी
30क्वानीलाफॉसगन्ना, बैंगन, प्याज, आम, कॉफी, पत्ता गोभी
31थायोफिनेट-मिथाइलगेहूँ, ककड़ी समूह, अरहर
32ट्राईडीमीफानकाफी, आम, मिर्च, सोयाबीन
33ट्राइजोफॉसबैंगन
34ट्राइडीमार्फहरी मटर, ग्वार फली, ककड़ी समूह, बेर, चाय, नींबू, संतरा आदि
35ट्राईफ्लूरेलिनकपास, सोयाबीन
36एरियोफ्यूजिनधान, अंगूर, जीरा, सेब, आलू
37कॉपर सल्फेटआलू, अंगूर, टमाटर, मिर्च
38स्ट्रेप्टोमाइसिन + टेट्रासाइक्लिनमिर्च, कपास
39कॉपर हाइड्रोआक्साइडचाय, मिर्च, मूँगफली
40फ्ल्यूफिनाक्स्यूरॉनपत्ता गोभी
41आक्सीकर्बाक्सिनकॉफी
42थायोबिनकार्ब (बेन्थियोकार्बा)चावल

बादाम की खेती कैसे होती है

खरपतवार नाशक दवाइयों के नाम (Weed Killer Names)

यदि आप अपने खेत में अच्छी फसल चाहते है, तो आपको खरपतवार नियंत्रण पर भी ध्यान देना होता है | धान की फसल में खरपतवार की रोकथाम के लिए यांत्रिक विधि हाथ से निराई-गुड़ाई आदि को काफी प्रभावी माना जाता है, किन्तु कई कारणों के चलते इस विधि का व्यापक प्रचलन नहीं हो पा रहा है | धान की फसल में पौधो और मुख्य खरपतवार जैसे जंगली धान एवं संवा के पौधों में पुष्पावस्था के पहले काफी समानता होने के चलते किसानो को निलाई-गुड़ाई के समय आसानी से इन्हे पहचानने में काफी समस्या होती है |

वर्तमान समय में मजदूरी के दाम अधिक होने के कारण इस विधि को इस्तेमाल आर्थिक रूप से लाभदायक नहीं है | इसके अतिरिक्त खरीफ के मौसम में कभी-कभी अधिक नमी होने के कारण यांत्रिक विधि द्वारा निलाई-गुड़ाई नहीं हो पाती है | वही कीटनाशकों द्वारा इन खरपतवार पर नियंत्रण करना प्रति हेक्टयेर के हिसाब से काफी कम लागत आती है, तथा समय भी कम लगता है | रासायनिक कीटनाशकों का इस्तेमाल करते दवाईओ की उचित मात्रा, उचित ढंग तथा उपयुक्त समय का विशेष ध्यान रखता होता है, यदि ऐसा न किया जाये पौधों को लाभ की जगह हानि उठानी पड़ सकती है |

सफेद मूसली की खेती कैसे होती है

यहाँ आपको कुछ खरपतवार नाशक दवाइयों के नाम बताये जा रहे है, जिनकी जानकारी इस प्रकार है:-

क्रम संख्याखरपतवारनाशी रसायनमात्रा (ग्राम)प्रयोग का समयखरपतवार नियंत्रित
1ब्यूटाक्लोर (मिचेटी)1500-2000बुवाई/रोपाई के 3-4 दिन बादघास कुल के खरपतवार
2एनीलोफास (एनीलोगार्ड)400-500सदैवघास एवं मोथा कुल के खरपतवार
3बैन्थियोकार्ब (सैटनी)1000-1500सदैवघास कुल के खरपतवार
4पेंडीमेथलिन (स्टाम्प)1000-1500सदैवघास, मोथा एवं चौड़ी पत्ती वाले खरपतवार
5आक्साडायजान (रोनस्टार)750-1000सदैवसदैव
6आक्सीफलोरफेन (गोल)150-250सदैवसदैव
7प्रेटिलाक्लोर (रिफिट)750-1000सदैवसदैव
82, 4-डी (नाकवीड)500-1000चौड़ी पत्ती वाले खरपतवार पर नियंत्रण के लिए बुवाई/रोपाई के 20-25 दिन बाद
9क्लोरिभ्युरान + मेटसल्फयूरान (ऑलमिक्स)4चौड़ी पत्ती वाले एवं मोथा कुल खरपतवार पर नियंत्रण के लिए 20-25 दिन बाद
10फेनाक्जाप्राप इथाईल (व्हिपसुपर)60-70सकरी पत्ती वाले खरपतवार पर नियंत्रण के लिए बुवाई/रोपाई के 20-25 दिन बाद प्रभावशाली

कॉफी की खेती कैसे करें

Leave a Comment