जमीन का रसीद कैसे देखे | जमीन का लगान कैसे भरे – [Jamin Ka Rashid Download Online]

आज के दौर में प्रत्येक व्यक्ति जमीन खरीदना चाहता है | दरअसल निवेश (Investment) की दृष्टि और सामाजिक अस्तित्व को देखते हुए जमीन बहुत ही आवश्यक संपत्ति मानी जाती है। यही कारण है कि जमीनों के दाम दिन-प्रतिदिन आसमान छुते जा रहे है | यहाँ तक कि एक आम आदमी के लिए जमीन खरीदना उसके लिए सपना बन जाता है | जब हम जमीन खरीदते है, तो उससे सम्बंधित दस्तावेज हमें राजस्व विभाग से मिलते है | जो इस बात को प्रमाणित करते है, कि यह जमीन किस अमुख व्यक्ति की है | इसके अलावा जमीन खरीदते समय हमें कुछ शुल्क का भुगतान करना होता है, जिसके बदले हमें एक रसीद मिलती है |

जमीन का रसीद (Land Receipt) से सम्बन्धित जानकारी

इस रसीद को हम जमीन का रसीद भी कहते है | जबकि भारत के कई राज्यों में इसे अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है |  अभी तक इस रसीद के लिए हमें राजस्व विभाग के चक्कर लगानें पड़ते थे परन्तु अब इसे ऑनलाइन कर दिया गया है | इसका सीधा मतलब यह है, कि अब आप अपनी जमीन की रसीद को घर बैठे ऑनलाइन देख सकते है |  जमीन का रसीद कैसे देखे? इसकी जानकारी देने के साथ ही आपको यहाँ | जमीन का लगान कैसे भरे – [Jamin Ka Rashid Download Online] के बारें में बताया जा रहा है |

सर्किल रेट क्या होता है ?

जमीन का रसीद क्या है (What is Land Receipt)

भारत में जब आप किसी जमीन को खरीदते है अथवा उसे किसी को बेंचते है, तो जमीन खरीदनें और बेचनें वाली पार्टियों के बीच इन सभी बैटन का विवरण राजस्व विभाग के कार्यालय में सरकारी दस्तावेजों में दर्ज किया जाता है | इसके अलावा जमीन खरीदनें वाले व्यक्ति के पास एक ऐसा दस्तावेज होता है, जिसे हम रजिस्ट्री के नाम से जानते है | जिसमें इस बात का विवरण दर्ज किया जाता है, कि आपने यह जमीन किस्से खरीदी है और इसके लिए कितने रुपए का लेनदेन हुआ है इन सब का विवरण एक कागज में लिखा जाता है जिसे जमीन रसीद के नाम से जाना जाता है।

तारबंदी योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

जमीन की रसीद क्यों महत्वपूर्ण है (Land Receipt is Importantance)

संपत्ति कर का भुगतान करने के बाद रसीद अवश्य प्राप्त करना चाहिए। यदि आप अपनी जमीन या संपत्ति कर का भुगतान ऑनलाइन कर रहे हैं, तो भी संपत्ति कर रसीद डाउनलोड करना न भूलें। दरअसल संपत्ति विवाद के मामले में संपत्ति कर रसीद सबूत के रूप में कार्य करती है। जब आप कोई संपत्ति खरीदते हैं, तो इस संपत्ति के शीर्षक को स्थानीय प्राधिकरण के रिकार्ड में दर्ज करवानें की आवश्यकता होती है।

यदि आप इसे अपडेट नहीं करवाते हैं, तो यह पिछले मालिक का नाम दिखाना जारी रखेगा, जो संपत्ति कर का भुगतान करता था और पिछले मालिक के नाम पर नई संपत्ति कर रसीदें भी जारी की जाएंगी। इसलिए टैक्स का भुगतान करने से पहले रिकॉर्ड को अपडेट करना सुनिश्चित करें ताकि आप अपने नाम पर रसीद प्राप्त कर सकें। इसके अलावा देश के किसी भी राज्य में जमीन खरीदते है और इस प्रोसेस को आगे जारी रखना चाहते है, तो आपको ध्यान रखना होगा कि राजस्व विभाग में आपका किसी भी प्रकार का पैसा बकाया ना हो।  

जमीन का रसीद कैसे जमा करें (Land Receipt Submit Process)

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि देश के अलग-अलग राज्यों में जमीन की रसीद कटवाने और उसे राजस्व विभाग के कार्यालय में जमा करने की प्रक्रिया अलग-अलग होती है | दरअसल सरकार द्वारा सभी विभागों को डिजिटलाईजेशन किया जा रहा है | जिसके कारण अधिकांश प्रक्रिया ऑनलाइन हो चुकी है | ऐसे में आप घर बैठे या जन सेवा केंद्र के माध्यम से जमीन रसीद कटवा सकते हैं और उसे सरकारी कार्यालय में जमा करवा सकते है। इस सुविधा के शुरू हो जानें से लोगो को काफी सहूलियत मिली है | इसके साथ ही उन्हें सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगानें से निजात मिल गयी है | जिससे उनके धन की बचत होनें के साथ ही समय की बचत होती है |

खेत का नक्शा कैसे देखें ऑनलाइन

जमीन का लगान कैसे भरे (How to Pay Land Rent)    

अपनी जमीन या संपत्ति का लगान (Lagan/TAX) का पेमेंट आप 2 तरीकों से कर सकते है | पहले आप्शन के अंतर्गत आपको अपने क्षेत्र के राजस्व कार्यालय (Revenue Office) में जाकर पेमेंट जमा कर रसीद प्राप्त कर सकते है | जबकि दूसरे आप्शन के अंतर्गत उत्तर प्रदेश राजकोष (Uttar Pradesh Treasury) की ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन जमा कर सकते है| जमीन का लगान ऑनलाइन जमा करने की प्रक्रिया इस प्रकार है-

  • अपनी जमीन या संपत्ति का लगान जमा करनें के लिए आपको सबसे पहले उत्तर प्रदेश ट्रेजरी की अधिकारिक वेबसाइट https://rajkosh.up.nic.in/ पर जाना होगा|
  • अब आपके सामनें होम पेज खुलेगा, यहाँ आपको ‘Pay Without Registration’ और ‘New Registration’ यह 2 आप्शन मिलेंगे| यदि आप पंजीकरण नही करवाना चाहते है, तो आपको ‘Pay Without Registration’ के आप्शन पर क्लिक करना होगा|
  • अब आपके सामनें एक नया पेज ओपन होगा, यहाँ आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारियों को भरना होगा, जो इस प्रकार है-
  • Department – इस सेक्शन में आपको ‘राजस्व विभाग’ को सेलेक्ट करना होगा|  
  • Assessment Year – यहाँ आप किस वर्ष के लिए लगान जमा करना चाहते है, उसे सेलेक्ट करे|  
  • Deposit Period – यहाँ आपको Annual सेलेक्ट करना होगा|
  • Select Division – इस सेक्शन में आपको अपनें संबंधित मंडल के नाम को सेलेक्ट करना होगा|  
  • Select Treasury – इसके अंतर्गत आपको अपने क्षेत्र की संबंधित ट्रेज़री अर्थात कोषागार का नाम सेलेक्ट करना होगा|
  • यह सभी जानकारियां दर्ज करनें के बाद आपको कैप्चा कोड भरना होगा|  
  • इसके पश्चात आपको दूसरी तरफ ‘Depositor Name’ का आप्शन दिखेगा, इसमें आपको अपना नाम भरना होगा|
  • अब आपको नीचे की तरफ उस वर्ष की शेष बकाया राशि दिख जाएगी, जितना पेमेंट बकाया दिख रहा है उसे दर्ज कर ‘Submit’ पर क्लिक करके पेमेंट करें|
  • सफलतापूर्वक भुगतान करनें के पश्चात आप रसीद को डाउनलोड कर सकते है| इस प्रकार आप अपनी जमीन का लगान ऑनलाइन जमा कर सकते है|         

किसान क्रेडिट कार्ड योजना

Leave a Comment